लीलाधर की दिखाई लीला तो बुरा मान गए शाहब

 

राष्ट्रीय (दैनिक कर्मभूमि)  चित्रकूट। जिला विकासखंड कर्वी के जॉइंट खंड विकास अधिकारी का नया कारनामा सामने आया है आपको बता दे कि ज्वाइंट खंड विकास अधिकारी के द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ जहां अपात्र लोगों को दलालों के माध्यम से सुविधा शुल्क लेकर दिए जाने का कार्य किया जाता रहा है जिसकी शिकायत भी भारी संख्या में पहुंचकर ग्रामीणों ने कलेक्टर से की वही जब विकास अधिकारी के कारनामों का मीडिया ने प्रकाशन किया तो मीडिया की आवाज दबाने के लिए जॉइंट खंड विकास अधिकारी ने नोटिस थमाने का अनोखा कार्य किया है।

*जॉइंट खंड विकास अधिकारी की ग्रामीणों ने की शिकायत* आपको बता दें कि ज्वाइंट खंड विकास अधिकारी का यह कोई नया कारनामा नहीं है। इसके पहले भी इसी कारनामों से लीलाओं का जाल फैलाने वाले जॉइंट खंड विकास अधिकारी निलंबित हो चुके हैं और लेनदेन के मामले में मुकदमा भी दर्ज किया गया है जो माननीय न्यायालय के समझ विचाराधीन है ऐसे में समझा जा सकता है कि जॉइंट खंड विकास अधिकारी कितने पाक साफ हो सकते हैं।

 

*दिखाया सच्चाई तो मान गए साहब बुरा* पत्रकार का काम है हो रहे भ्रष्टाचार को उजागर करना और आम जनता की बात को जन-जन तक पहुंचाना पत्रकार ने वही काम किया लेकिन शायद यह बात एक भ्रष्टाचारी अधिकारी को रास नहीं आई और यही वजह है कि अधिकारी ने पत्रकार की कलम को रोकने के लिए एक नोटिस भेजते हुए मानहानि का दावा करने लगा लेकिन सच्चाई कुछ और बयां कर रही है पत्रकार के पास एक ऐसा कारनामा सामने आया है जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है और उसमें अपने आप को पाक साफ समझने वाले जॉइंट खंड विकास अधिकारी लेन-देन कर रहे हैं जॉइंट खंड विकास अधिकारी के यदि कारनामों की वास्तविक रूप से जांच की जाए तो पता चलेगा कि कितने दूध के धुले साफ ज्वाइंट खंड विकास अधिकारी हैं। वैसे तो जॉइंट खंड विकास अधिकारी की लीलाओं का वर्णन सभी जगह देखने को मिल रहा है लेकिन देखने वाली बात यह होगी कि जॉइंट खंड विकास अधिकारी के कारनामों की कब जांच होती है या फिर इसी तरह अधिकारी के हौसले बुलंद होते रहेंगे और शासन की दी जाने वाली योजना अपात्र लोगों को हमेशा मिलती रहेगी और पात्र दर-दर की ठोकरें खाता रहेगा।

 

*राष्ट्रीय हिन्दी दैनिक कर्मभूमि समाचार पत्र एवं वेब न्यूज़ चैनल*

 

*ब्यूरो रिपोर्ट* अश्विनी कुमार श्रीवास्तव

*जनपद* चित्रकूट

error: Content is protected !!