*मानवता को शर्मसार करने वाली घटना, चढ़ा प्लास्टर फिर भी ड्यूटी करने को मजबूर*

राष्ट्रीय दैनिक कर्मभूमि अंबेडकरनगर

अंबेडकर नगर मीडिया की टीम आयुष्मान भारत को सच परखने के लिए उप स्वास्थ्य केंद्र बड़ा गांव इब्राहिमपुर टाण्डा अम्बेडकर नगर पर पहुंची। वहां आयुष्मान सेंटर पर ताला लगा मिला एवं उपकेंद्र पर भी ताला लगा मिला।आसपास जानकारी करने पर पता चला कि ए.एन.एम.कहीं पर टीकाकरण में गई हैं ।उनका मोबाइल नंबर मिला तो पता चला कि जिया पुर में वह टीकाकरण कर रही हैं, मीडिया टीम जियापुर टीकाकरण स्थल पर पहुंची तो वहां पर आशा की टीम के साथ टीकाकरण कर रही थी।सघन मिशन इंद्रधनुष सरकार का विशेष अभियान चल रहा था जिसमे इस अभियान के माध्यम से गर्भवती महिलाओ तथा 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों को 12 विभिन्न जानलेवा बीमारियों तथा तपेदिक, गलघोंटू, टिटनेस ,काली खांसी, इनफ्लुएंजा, हेपेटाइटिस- बी, खसरा, रूबेला, दिमागी बुखार( जापानी इंसेफेलाइटिस ),निमोनिया, पोलियो एवं रोटा वायरस, जटिल डायरिया में बचाव हेतु पूर्णतः प्रतिरक्षित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है ।जब हम मैडम के सामने बैठकर उनसे जानना चाहे तो हमारी निगाह मैडम के पैरों पर पड़ी जिसमें प्लास्टर लगा हुआ था ,तब सबसे पहले उनका हाल-चाल जाना तो मैडम के स्वास्थ्य केंद्र पर फिसल कर गिरने के कारण उनका पैर फैक्चर हो गया लेकिन मैडम को ड्यूटी करना अनिवार्य बताया गया है । मानवता को शर्मसार करने वाली घटना है ,इस स्थिति में मैडम को उनके साथियों के सहयोग से चलना पड़ता है ।उधर हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर के C.H.O.( सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी) का पता चला कि ड्यूटी पर हमेशा तैनात नहीं रहते है।जो की सरकार को गोल्डन कार्ड का कार्य 31- 8- 2023 तक अनिवार्य रूप से चल रहा है ,आज मैडम के सहयोग की जरूरत है किसकी जिम्मेदारी बनती है मैडम 2:00 बजे टीका लगाकर CHC मीटिंग में जाने की बात कर रही है ,आयुष्मान भवः की जरूरी मीटिंग है,सारा दायित्व ए. एन. एम. का ही बनता है क्या?

विशेष –

1-सी एच ओ गायब रहते हैं जिम्मेदार कौन

2-मैडम उपकेंद्र पर रात्रि निवास के साथ संस्थागत प्रसव कराती हैं जो की सरकार की मनसा है ।

3-छुट्टी के विषय पर मैडम कुछ बोलने को तैयार नहीं है

4-विभाग में कार्य करने वालों को ही परेशान किया जाता है।

 

error: Content is protected !!