यह तकनीक हासिल करने वाला भारत दुनिया का चौथा देश बना

नई दिल्ली (दैनिक कर्मभूमि):- देश ने सुरक्षा और अंतरिक्ष के क्षेत्र में एक और उपलब्धि जोड़ ली है,और यह ऐसी उपलब्धि है जिसके कारण भारत दुनिया का चौथा देश बन गया है जिसके पास ऐसी तकनीक है।
आपको बता दे कि DRDO ने अब्दुल कलाम आइलैंड में हाइपरसोनिक स्क्रामजेट इंजन का सफल परीक्षण किया है।यह तकनीक पूरी तरह से स्वदेशी है,और अमेरिका,रूस और चीन के बाद यह तकनीक सिर्फ भारत के पास है।इस तकनीक से जहा सुरक्षा व्यवस्था और भी कड़ी होगी तो वहीं अंतरिक्ष के क्षेत्रों में भी किसी भी उपग्रह को स्थापित करने में कम खर्च आएगा।
क्या है हाइपरसोनिक स्क्रामजेट इंजन
यह एक ऐसी तकनीक है जिसकी मदद से रॉकेट ध्वनि की चाल से 5 से 6 गुना अधिक चाल से चलता है। इस इंजन की मदद से किसी उपग्रह को लगभग 20 सेकंड में 32.5 किलोमीटर ऊपर पहुंचाया जा सकता है इससे जहां ईंधन की बचत होगी वही समय वह लागत भी काम आएगी।

रिपोर्ट :- संतोष शुक्ला

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: