अंजान प्रधानों को नहीं पता कि कब आते हैं सफाई कर्मचारी।

उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय (दैनिक कर्मभूमि) नसीराबाद रायबरेली-गांवों को साफ सुथरा करने के मकसद से गांव-गांव सफाई कर्मी नियुक्त किए गए हैं /लेकिन इनकी नियुक्ति से लेकर तैनाती तक मनमानी और सांठगांठ हुई है/ नतीजन गांवों को साफ -सुथरा बनाने का मकसद पूरा नहीं हो सका/ सरकार के लाखों रुपए खर्च करने के बाद भी गांव में सफाई अभियान फेल हो रहा है/ ऐसे में गांवों मैं सफाई कर्मी ड्यूटी पर भले ही ना जाएं पर हाजिरी रजिस्टर पर चढ़ जाती है/ विकास खंड छतोह क्षेत्र के ग्राम पंचायत सरांय तेलियानी भेलिया आदि / गांव में 1 महीने से सफाई नहीं हुई है/ जिससे गांव में कूड़े के ढेर लगे हुए हैं जिससे गंदगी के कारण संक्रामण रोग फैलने का खतरा बढ़ रहा है/गांव के लोगों ने बताया कि सफाई कर्मी आता जरूर है/लेकिन पंचायत भवन में रखे रजिस्टर पर हाजिरी चढ़ा कर चला जाता है/ ग्रामीणों का कहना है / कि प्रधान की मिलीभगत से सफाई कर्मी मनमानी कर रहा है/ गांव में जगह-जगह कूड़े के ढेर एवं नालीयो में जल भराव भी है/ जिससे मच्छरों का प्रकोप बढ़ रहा है/ इसका नजारा देखना हो तो ग्राम सभा सरांय के मेन चौराहे के रास्ते के किनारे पर भरा हुआ पानी चौराहे के किनारे पर बसे हुए दुकानदार एवं ग्रामीणों का कहना है कि सिकायत करने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं होती है ।

नसीराबाद से आशुतोष श्रीवास्तव कि रिपोर्ट

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: