*विज्ञान प्रतिभा खोज परीक्षा के लिए 15 सितंबर तक करें आवेदन*

राष्ट्रीय दैनिक कर्मभूमि अंबेडकरनगर

अम्बेडकर नगर विज्ञान भारती,राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार एवं राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद‌ संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार के सहयोग से किया जा रहा है। विज्ञान के क्षेत्र में प्रतिभाओं की खोज के हेतु डिजिटल उपकरणों पर आधारित भारत की सबसे बड़ी विज्ञान प्रतिभा खोज परीक्षा विद्यार्थी विज्ञान मंथन 2023-24 का आयोजन किया जायेगा। इसके परिप्रेक्ष्य में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE)व उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद(UP Board) के डॉक्टर ए.के.पब्लिक स्कूल,मदर टेरेसा इंटरनेशनल स्कूल,डा अशोक कुमार स्मारक विद्यालय,सेंट जेवियर्स स्कूल, डोएन पब्लिक स्कूल,आर के पेसिफिक अकबपुर विद्यालयों में विजिट कर प्रधानाचार्यों को वीवीएम की विवरणिका भेंट की तथा बच्चों की अधिक से अधिक प्रतिभागिता सुनिश्चत करने के लिए कहा गया।
राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर व एकेडमिक समन्वयक देवेंद्र प्रताप मिश्र ने बताया कि यह परीक्षा 14 भारतीय भाषाओं में होने वाली देश की पहली ओपन बुक प्रतिभा खोज परीक्षा है जो ऐप के माध्यम से दी जाएगी।
जिला समन्वयक नीरज यादव ने बताया कि प्रतियोगिता में कक्षा 6 से 11 तक सभी बोर्डों के विद्यार्थी vvm.org.in पर जाकर 15 सितंबर तक पंजीकरण कर परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। पंजीकृत विद्यार्थियों को 29 व 30 अक्टूबर को सुबह 10:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक किसी भी समय 90 मिनट में डिजिटल उपकरणों मोबाइल/लैपटॉप के माध्यम से परीक्षा में प्रतिभाग करना सुनिश्चित करेंगे। जिसका परिणाम 10 नवंबर को घोषित किया जाएगा। इस परीक्षा में विद्यार्थियों की प्रतिभागिता हेतु जिला विद्यालय निरीक्षक गिरीश कुमार सिंह द्वारा सभी बोर्डों के विद्यालयों के प्रधानाचार्यों को कार्यालयी पत्र के माध्यम से बच्चों की प्रतिभागिता सुनिश्चित करने का आदेश दिया। जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि इस परीक्षा का उद्देश्य स्कूली छात्रों के बीच विज्ञान विषय को लोकप्रिय बनाना एवं विद्यार्थियों में शुद्ध विज्ञान के प्रति रुचि पैदा करना तथा छात्रों को पारंपरिक से आधुनिक तक विज्ञान और तकनीकी की दुनिया में भारतीय वैज्ञानिकों के योगदान के बारे में शिक्षित करना है। परीक्षा में भाग लेने वाले छात्रों के कक्षा की विज्ञान व गणित की पाठ्य पुस्तकों से (50 प्रतिशत) विज्ञान में भारत का योगदान विषय पर (20 प्रतिशत) अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पूरा वनस्पति वैज्ञानिक बीरबल साहनी की जीवनी कहानी पर (20 प्रतिशत) एवं तर्क शक्ति परीक्षण (20 प्रतिशत) से प्रश्न पूछे जाएंगे इसका पाठ्यक्रम वेबसाइट *www.vvm.org.in* पर उपलब्ध है। उन्होंने आगे बताया कि इस परीक्षा के माध्यम से उन छात्रों को सीधे आगे आने का मौका मिलेगा जो छोटी उम्र में वैज्ञानिक सोच रखते हैं और विज्ञान विषय में कुछ नई खोज तथा इनोवेशन करना चाहते हैं लेकिन आधुनिक संसाधनों की कमी के कारण अपना कार्य नहीं कर पा रहे हैं। परीक्षा में अंतिम रूप से चयनित विजेताओं को भारत की प्रतिष्ठित विज्ञान अनुसंधान प्रयोगशालाओं जैसे ISRO,BARC,DRDO एवं CSIR में
1 से 3 सप्ताह का प्रशिक्षण का अवसर मिलेगा।जिला,राज्य and व राष्ट्रीय स्तर के अंतिम रूप से चयनित विजेताओं को भास्कर छात्रवृत्ति व प्रशस्ति पत्र के साथ सम्मानित किया जाएगा।

रिपोर्ट विमलेश विश्वकर्मा ब्यूरो चीफ अंबेडकर नगर

error: Content is protected !!