सऊदी अरब ने पाकिस्तान को तेल आयात करने पर लगाई रोक,कर्ज भी चुकाने के लिए कहा

विदेश (दैनिक कर्मभूमि):- पाकिस्तान हमेशा से अपनी नापाक इरादों के लिए जाना जाता है उसकी इन्हीं आदतों की वजह से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हमेशा उसकी बेइज्जती हुई है।एक बार फिर नापाक पाकिस्तान को इसका सामना करना पड़ रहा है।
सऊदी अरब ने पाकिस्तान के लिए अपने ऋण और तेल की आपूर्ति को समाप्त कर दिया है, जिससे दोनों देशों के बीच दशकों पुरानी दोस्ती खत्म हो गई है।
पाकिस्तान को यह दिन इसलिए देखना पड़ रहा है क्यो की पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने OIC संगठन से कश्मीर मुद्दे में कोई ठोस कदम ना उठाने से नाराजगी जाहिर की थी।
आपको बता दे कि OIC का मतलब है इस्लामिक सहयोग संगठन, यह एक इस्लामिक देशों का समूह है जो दुनिया के लगभग 25% है।इस संगठन में मुख्यरूप से अरब देश है।
सऊदी अरब ने पाकिस्तान को 1 बिलियन अमरीकी डालर वापस करने के लिए भी कहा है, जोकि नवंबर, 2018 में सऊदी अरब द्वारा घोषित 6.2 बिलियन डॉलर के पैकेज के एक हिस्से के तौर पर दिया गया था. कुल मिलाकर, इस पैकेज में 3 बिलियन डॉलर का ऋण और तेल ऋण की सुविधा 3.2 बिलियन डॉलर शामिल थी.
क्या है मामला
कुरैशी ने कथित तौर पर OIC को विदेश मंत्रियों की परिषद की बैठक बुलाने के लिए कहा था. बाद में उन्होंने चेतावनी देते हुए यह कहा था कि, अगर यह बैठक नहीं बुलाई गई तो वह पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान से उन इस्लामिक देशों की बैठक बुलाने के लिए कहने को मजबूर होंगे जो कश्मीर मामले पर उनका (पाकिस्तान का) समर्थन करने के लिए तैयार हैं।
पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने यह कहा कि,पाकिस्तान सऊदी अरब के अनुरोध पर कुआलालंपुर शिखर सम्मेलन में शामिल नहीं हुआ और अब पाकिस्तान को यह उम्मीद है कि,राष्ट्र इस मुद्दे पर नेतृत्व करेगा।

रिपोर्ट :- संतोष शुक्ला

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: