प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने Transparent Taxation : Honouring the Honest मंच की शुरुआत की

दिल्ली(दैनिक कर्मभूमि):-देश में 2014 में जब से बीजेपी की सरकार आई है तब से सरकार कुछ ना कुछ नए नियम नए कानून ला रही है जिससे देश की स्थिति को सुधारा जा सके।
इस कार्यकाल में केंद्र सरकार ने कुछ अहम मुद्दों को भी समझाया है जो अभी तक लंबित पड़े थे।
इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 13 अगस्त 2020 को ईमानदारी से कर चुकाने वालों के लिए ‘ट्रांसपैरेंट टैक्सेशन: ऑनरिंग द ऑनेस्ट’ नामक एक मंच का शुभारंभ किया है। वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से होने वाले इस आयोजन में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर भी उपस्थित रहे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर कहा कि ये प्लेटफॉर्म 21वीं सदी के टैक्स सिस्टम की शुरुआत है, जिसमें फेसलैस असेसमेंट-अपील और टैक्सपेयर्स चार्टर जैसे बड़े रिफॉर्म हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इनमें कुछ सुविधा अभी से लागू हो गई है, जबकि पूरी सुविधा 25 सितंबर 2020 से शुरू होगी.
टैक्सपेयर्स चार्टर क्या है?
प्रधानमंत्री ने टैक्सपेयर्स चार्टर लागू करने का घोषणा किया. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पिछले बजट में टैक्सपेयर्स चार्टर लाने का घोषणा किया था. उन्होंने पिछले हफ्ते भी इस चार्टर को जल्द लागू करने के संकेत दिए थे. टैक्सपेयर्स चार्टर का उद्देश्य करदाताओं और इनकम टैक्स विभाग के बीच विश्वास बढ़ाना, टैक्सपेयर्स की परेशानी कम करना और अधिकारियों की जवाबदेही तय करना होता है.
आपको बता दे कि इस समय विश्व के केवल तीन देशों- अमेरिका, कनाडा और आस्ट्रेलिया में ही यह लागू है।

रिपोर्ट:- संतोष शुक्ला

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: